Archive | Hinduism RSS feed for this section

Ghatasthapana कलश स्थापना – Mon, 31 March 2014 (9:22am to 10:53am IST)

GhatSthapan – Kalashsthapana Subh Muhurta : The first day of Navratra is called Ghatasthapana, which literally means pot establishing. On this day the kalash, (holy water vessel) symbolising Goddess Durga often with her image embossed on the side is placed in the prayer room. The kalash is filled with holy water and covered with cowdung on to which….

Continue Reading · Comments { 2 }

Chaitra Navratri 2014 – चैत्र (वासन्ती) नवरात्र

Chaitra Navratri 2014 (Ghatsthapana) : Mon, 31 March घटस्थापनका समय ’ प्रातःकाल ’ है । वर्ष के चार नवरात्रों में दो मुख्य चैत्र और आश्विन के नवरात्र हैं। इनमें भी चैत्र नवरात्र की अपनी विशिष्टता और महत्ता है। इसकी विशिष्टता का कारण इस अवधि में सूक्ष्म वातावरण में दिव्य हलचलों का होना है। ये चैत्र, आषाढ़, आश्विन और माघकी शुक्ल प्रतिपदासे नवमीतक नौ दिनके होते हैं; परंतु प्रसिद्धिमें चैत्र और आश्विनके नवरात्र ही मुख्य माने जाते हैं । इनमें भी देवीभक्त आश्विनके नवरात्र आधिक करते हैं । इनको यथाक्रम वासन्ती और शारदीय कहते हैं । इनका आरम्भ चैत्र और आश्विन शुक्ल प्रतिपदाको होता है । अतः यह प्रतिपदा ’ सम्मुखी ’ शुभ होती है ।

Continue Reading · Comments { 1 }

होली और होलिका दहन : Holika Dahan Muhurta 2014

Holika Dahan होलिका दहन 2014 – फागुन शुक्ल अष्टमी से पूर्णिमा तक आठ दिन होलाष्टक मनाया जाता है । इसी के साथ होली उत्सव मनाने की शुरु‌आत होती है। होलिका दहन की तैयारी भी यहाँ से आरंभ हो जाती है। इस पर्व को नवसंवत्सर का आगमन तथा वसंतागम के उपलक्ष्य में किया हु‌आ यज्ञ भी माना जाता है। वैदिक काल में इस होली के पर्व को नवान्नेष्टि यज्ञ कहा जाता था। पुराणों के अनुसार ऐसी भी मान्यता है कि जब भगवान शंकर ने अपनी क्रोधाग्नि से कामदेव को भस्म कर दिया था, तभी से होली का प्रचलन हु‌आ।

Continue Reading · Comments { 2 }

Holi 2014 Date: Festival of Colours, Play Safe

Holika Dahan Time (Muhurta) : According to a legend of the demon Holika is Bhakta Prahlad’s devotion to Lord Narayana, and his subsequent escape from death at the hands of Holika…The religious element in the holi festival consists of worship of Krishna. In some places it is also called the Dol Yatra. The word dol literally means “a swing”. An image of Sri Krishna as a babe is placed in a little swing-cradle and decorated with flowers and painted with coloured powders.

Continue Reading · Comments { 0 }

ॐ जय शिव ॐकारा | Lord Shiva Arti in Hindi

Jai Shiva Omkara – Shiv Aarti शिवजी की आरती : ॐ जय शिव ॐकारा, स्वामी हर शिव ॐकारा |ब्रह्मा विष्णु सदाशिव अर्धांगी धारा || – ॐ जय शिव ॐकारा Do not forget to sing this great Hymn of Lord Shiva during Maha Shivaratri and Shravan month.

Continue Reading · Comments { 2 }

Shri Shivastak : पार्वती पति हर-हर शम्भो, पाहि पाहि दातार हरे॥

Shri Shivastak – जय शिवशंकर, जय गंगाधर, करुणा-कर करतार हरे, जय कैलाशी, जय अविनाशी, सुखराशि, सुख-सार हरे जय शशि-शेखर, जय डमरू-धर जय-जय प्रेमागार हरे, जय त्रिपुरारी, जय मदहारी, अमित अनन्त अपार हरे, निर्गुण जय जय, सगुण अनामय, निराकार साकार हरे। पार्वती पति हर-हर शम्भो, पाहि पाहि दातार हरे॥

Continue Reading · Comments { 0 }

शिव ताण्डव स्तोत्रम् – Shiva Tandava Stotram

Maha Shiva Ratri Songs शिव ताण्डव स्तोत्रम् – Shiva Tandava Stotram Meanings -I have a very deep interest in Lord Siva, whose head is glorified by the rows of moving waves of the celestial river Ganga, agitating in the deep well of his hair-locks, and who has the brilliant fire flaming on the surface of his forehead, and who has the crescent moon as a jewel on his head

Continue Reading · Comments { 3 }

पुष्पदंत रचित शिव महिम्नस्तोत्र – Shiva Mahimna Stotra

Pushpadant Shiva Mahimna Stotra शिव महिम्नस्तोत्र – भगवान शिव के भक्तों के बीच काफी लोकप्रिय है, भगवान शिव की प्रार्थना के बीच सर्वश्रेष्ठ में से एक माना जाता है | इस स्तोत्र की रचना की परिस्थितियों के बारे में कथा इस प्रकार है|

Continue Reading · Comments { 1 }

श्रीरुद्राष्टकम् – Shiva Rudrashtakam

श्रीरुद्राष्टकम् – Rudrashtakam : I bow to the supreme Lord who is the formless source of “OM” The Self of All…This eightfold hymn of praise was sung by the Brahman to please Shankara. Shambhu will be pleased with whomever heartfully recites it.

Continue Reading · Comments { 9 }

नमः शिवाय ॐ नमः शिवाय – Shiva Chants

Namah Shivay AUM Namah Shivay नमः शिवाय ॐ नमः शिवाय

Continue Reading · Comments { 0 }